Top-Level Domain क्या है और Top-Level Domain कितने प्रकार के होते हैं

Top-Level Domain क्या है और Top-Level Domain कितने प्रकार के होते हैं  – इंटरनेट पर किसी भी वेबसाइट की पहचान देखने के लिए हम उसके डोमेन नेम को सबसे पहले देखते हैं, जिससे हमें यह पता चलता है कि यह कोई सरकारी वेबसाइट है या फिर किसी संस्था की या किसी ऑर्गेनाइजेशन की। किसी भी वेबासइट का डोमेन नेम लेने के लिए नियम आसान नहीं है, इसके लिए कुछ स्टेप्स को फॉलो करना होता है। हालांकि डोमेन नेम कैसे लेते हैं, ये तो सभी को पता है लेकिन आज हम आपको Top-Level Domain (TDL) के बारे में बताने जा रहे हैं।

Top-Level Domain क्या है

टॉप लेवेल डोमेन को कभी कभी Internet Domain Extension भी कहा जाता है। टॉप लेवेल डोमेन को किसी भी डोमेन नेम का आखिरी सेक्शन कहा जाता है। उदाहरण के लिए आपको समझाते हैं कि जैसे आपने Google.com लिखा देखा होगा, इसमें टॉप लेवेल डोमेन .com है। जबकि Wikipedia.org का टीडीएल .org है। Top-Level Domain से हमें यह पता चलता है कि यह वेबसाइट किस चीज के बारे में है और वेबसाइट कहां का है।

इन उदाहरण से समझिए

Top-Level Domain को समझने के लिए हम आपको कुछ उदाहरण के बारे में बताने जा रहे हैं, जिससे आपको यह समझ में आ जाएगा कि आखिर टॉप लेवेल डोमेन क्या होता है और यह कहां इस्तेमाल होता है। जब आपके सामने www.cbc.ca लिखा हो, तो इसमें टीडीएल .ca  होगा और इससे यह समझ में आता है कि यह कनाडा के किसी ऑर्गनाइजेशन की वेबसाइट है। जबकि Google.org लिखा होगा, तो इसमें टीडीएल .org है और इससे पता चलता है कि यह गूगल की वेबसाइट है।

Top-Level Domain कितनी तरह के होते हैं?

टॉप लेवेल डोमेन 4 तरह के होते हैं, जो इस तरह से हैं-

Country Code Top-Level Domain

जैसा कि इसका नाम है कंट्री कोड, इससे आपको काफी हद तक अंदाजा लग रहा होगा कि इस तरह के Top-Level Domain का इस्तेमाल खास देशों की पहचान के लिए किया जाता है। यह टीडीएल अलग-अलग देशों के Two Letters के ISO Code के आधार पर लिखा होता है। हम आपको इसके कुछ उदाहरण बताने जा रहे हैं-

.us (United States)

.ca (Canada)

.fr (France)

.in (India)

.ru (Russia)

.jp (Japan)

.br (Brazil)

Internationalized Top-Level Domains

इस तरह के डोमेन ऐसे डोमेन होते हैं, जिसे Language-native alphabet में दिखाया जाता है। आपने तरह की कई वेबसाइट तो देखी होंगी लेकिन आपको इसकी पहचान नहीं होगी। ऐसे में हम आपको उदाहरण के साथ समझाने जा रहे हैं- जैसे .рф, यह एक Russian Federation का Internationalized Top-Level Domain है।

Read More – नई वेबसाइट डिजायन करते समय इन 5 टिप्स का रखें खास ख्याल

Generic Top-Level Domain

आम तौर पर इस तरह के डोमेन सबसे ज्यादा इस्तेमाल किए जाते हैं। यही नहीं आप भी इस तरह के डोमेन को देखकर आसानी से समझ जाएंगे कि आखिर यह वेबसाइट कहां की है और यह किस लिए बनाई गई है। यह एक साधारण डोमेन है और इसे कोई भी रजिस्टर करवा सकता है। उदाहरण-

.com (commercial)

.org (organization)

.net (network)

.biz (business)

.info (information)

Infrastructure Top-Level Domain

इस टॉप लेवेल डोमेन को arpa भी कहा जाता है। जिसका पूरा नाम होता है- Address and Routing Parameter Area. इस तरह के डोमेन का इस्तेमाल खास तौर पर किया जाता है। जैसे कोई technical Infrastructure की वेबसाइट बनानी हो, तो इस तरह के डोमेन का इस्तेमाल किया जाता है।

निष्कर्ष

दोस्तों हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बताया कि टॉप लेवल डोमेन क्या होता है। अगर आप एक ब्लॉगर हो और आप ब्लॉगिंग कर रहे हैं तो आपको टॉप लेवल 2 मिनट के बारे में जानकारी होना बहुत ही जरूरी है। फिर भी अगर आपको टॉप लेवल 2 मिनट के बारे में जानकारी नहीं है तो आशा करता हूं कि इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपको टॉप लेवल डोमेन के बारे में पूरी जानकारी अवश्य मालूम हो गई होगी।